श्री गणेश एवं बुढ़िया माई की कहानी

श्री गणेश एवं बुढ़िया माई की कहानी

Story of Shri Ganesh and old mother

एक बुढ़िया माई थी। मिट्टी के गणेश जी की पूजा करती थी। रोज बनाए रोज गल जाए। एक सेठ का मकान बन रहा था। वो बोली पत्थर का गणेश बना दो। मिस्त्री बोले। जितने हम तेरा पत्थर का गणेश घड़ेंगे उतने में अपनी दीवार ना चिनेंगे।

There was an old mother. Used to worship clay Ganesha. Make it every day and it will melt every day. A Seth’s house was being built. She said make a stone Ganesha. The mechanic said. As much as we will carve your stone Ganesha, we will not be able to build our wall.

बुढ़िया बोली राम करे तुम्हारी दीवार टेढ़ी हो जाए। अब उनकी दीवार टेढ़ी हो गई। वो चिनें और ढा देवें, चिने और ढा देवें। इस तरह करते-करते शाम हो गई। शाम को सेठ आया उसने कहा आज कुछ भी नहीं किया।

वो कहने लगे एक बुढ़िया आई थी वो कह रही थी मेरा पत्थर का गणेश घड़ दो, हमने नहीं घड़ा तो उसने कहा तुम्हारी दीवार टेढ़ी हो जाए। तब से दीवार सीधी नहीं बन रही है। बनाते हैं और ढ़ा देते हैं।

सेठ ने बुढ़िया बुलवाई। सेठ ने कहा हम तेरा सोने का गणेश गढ़ देंगे। हमारी दीवार सीधी कर दो। सेठ ने बुढ़िया को सोने का गणेश गढ़ा दिया। सेठ की दीवार सीधी हो गई। जैसे सेठ की दीवार सीधी की वैसी सबकी करना।

सकट चौथ व्रत कथा: राजा हरिश्चंद्र की कथा | एक साहूकार और साहूकारनी की कथा | श्री महादेवजी पार्वती की कथा | श्री गणेश आरती

करवा चौथ व्रत कथा | करवा चौथ कहानियाँ: साहूकार के सात लड़के, एक लड़की की कहानी | द्रौपदी को श्री कृष्ण ने सुनाई कथा | पतिव्रता करवा धोबिन की कथा

✆CALL AND WHATS APP +918950680571

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

भक्ति ए एम आर के माध्यम से तपस्वीयों ,साधु-संतों ,अघोरी , औगड़, नाथ संप्रदाय से जुड़े हुए लोगो के इंटरव्यू दिखाते रहते है , अगर इनसे सम्बंधित आपका कोई सवाल है तो संपर्क कर सकते है (bhaktiamrbhagat@gmail.com)
Right Menu Icon
%d bloggers like this: